लगातार हो रही बर्फबारी ने बदरीनाथ धाम की खूबसूरती बढ़ा दी है। बदरीनाथ धाम में लगभग 2 फीट तक बर्फ जम गई है। देखें तस्वीरें

बद्रीनाथ मंदिर-बद्रीनाथ या बद्रीनारायण मंदिर के नाम से जाना जाता है यह एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है।

आपको बता दे कि हिंदुओं के चार धामों में से एक यह मंदिर उत्तराखंड के चमोली जिले में अलकनंदा नदी के तट पर स्थित है। यह 108 दिव्य देशमो में से एक है। आपको बता दें कि यह मंदिर हिमालय पर्वत श्रृंखला के बीच लगभग 3133 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

जानकारी के अनुसार आपको बता दे कि यह मंदिर साल में 6 महीने (अप्रैल के अंत और नवंबर की शुरुआत के बीच) के लिए खुला रहता है। यहां पर हर साल 10 लाख से ज्यादा श्रद्धालु आते है।

भगवान विष्णु के बद्रीनारायण रूप की पूजा बद्रीनाथ मंदिर में होती है। शालिग्राम यानी काले पत्थर से बनी बद्रीनारायण की मूर्ति की ऊंचाई 1 मीटर है। कहा जाता है कि इस मूर्ति की स्थापना आठवीं शताब्दी में आदि शंकराचार्य ने किया था। मान्यता है कि यह विष्णु के स्वयं प्रकट हुई 8 मूर्तियों में से एक है।

आपको बता दें कि यह मंदिर उत्तर भारत में स्थित है लेकिन यहां के पुजारी भारत के दक्षिणी राज्य केरल के नम्बूदरी ब्राह्मण के होते हैं जिन्हें रावल कहा जाता है।

Rajan Sharma

Our motive to spread genuine and verified news of Kanpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, Bihar and all over India.