शोहरत की बुलंदी के बावजूद साधारण जीवन जीते है मनोज भाजपेयी, माता पिता एवं पत्नी के साथ तस्वीर

MANOJ BAJPAYEE BIOGRAPHY बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले से नरकटियागंज में 23 अप्रैल 1969 को एक ऐसे अभिनेता का जन्म हुआ जो आज के तारीख में बहुत बड़ा नाम बन चुका है। मनोज बाजपेई आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है, मनोज बाजपेई के माता-पिता को अभिनेता मनोज कुमार बहुत पसंद होने की वजह से उन्होंने अपने बेटे का नाम मनोज बाजपेई रख दिया था।

संघर्ष करते हुए मनोज बाजपेई ने सन 1994 में बनी फिल्म बैंडिट क्वीन से अपना सफर शुरू किया था, यह फिल्म शेखर कपूर द्वारा निर्देशित थी। जिसे दर्शकों द्वारा बहुत प्यार दिया गया और यहीं से शुरू हुआ मनोज बाजपेई का कारवां। मनोज बाजपेई को इस फिल्म में अभिनय करने के लिए अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्राप्त हुआ। इसके साथ साथ सन 2019 के लिए67 वें फिल्म पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया।

बिहार के बेतिया जिला में शिक्षा प्राप्त करने के बाद मनोज बाजपेई दिल्ली निकल कर आगे की पढ़ाई रामजस कॉलेज से प्राप्त किए, राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में 3 कोशिशों के बावजूद दाखिला नहीं मिलने पर उन्होंने बैरी जॉन के साथ रंगमंच करना शुरू कर दिया। करियर में शुरुआत के दौरान उन्होंने दूरदर्शन पर आने वाले धारावाहिक स्वाभिमान में अभिनय करना शुरू किया,

यह वही धारावाहिक है जिससे आशुतोष राणा और रोहित रॉय को पहचान मिली थी। इसी दौर में बैंडिट क्वीन के कास्टिंग के दौरान तिग्मांशु धूलिया मनोज बाजपेई की पहचान निर्देशक शेखर कपूर से कराई थी, जिसके बाद शेखर कपूर ने मनोज बाजपेई को बैंडिट क्वीन फिल्म में डाकू मानसिंह का रोल दिया। इसके बाद लगातार सह अभिनेता के रूप में मनोज बाजपेई ने कई फिल्मों में काम किया, जिनमें मुख्य रूप से द्रोहकाल, दस्तक, तमन्ना, दौड़, सत्य, पिंजर शामिल है।

मनोज बाजपेई को अभिनेता के रूप में सबसे बड़ी पहचान फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर ने दिया, इस फिल्म में मनोज बाजपेई का अभिनय काफी सराहा गया, इसके बाद मनोज बाजपेई की बुलंदी लगातार आसमान छूने लगी, इन्होंने गैंग्स ऑफ वासेपुर के बाद समर, स्पेशल 26 शूटआउट एट वडाला सत्याग्रह महाभारत (युधिष्ठिर के रूप में आवाज) सत्याग्रह अनजान तेवर जय हिंद पांडव अलीगढ़ ट्रैफिक बुधिया सिंह अय्यारी और सत्यमेव जयते जैसे फिल्मों में अपना मुख्य किरदार निभा कर दर्शकों से अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

साल 2006 में मनोज बाजपेई ने अपने जीवनसाथी शबाना रजा उर्फ़ नेहा के साथ शादी रचाई, अभी मनोज बाजपेई के 1 बच्चे हैं। मनोज बाजपेई ने अपनी बेटी का नाम अव नायला रखा है। कई बार यह सुनने को मिला है कि मनोज बाजपेई दिल्ली की एक लड़की के साथ शादी कर चुके थे लेकिन बाद में तलाक देकर उन्होंने अभिनेत्री शबाना खान उर्फ नेहा से शादी रचाई।

इतनी शोहरत पा चुके मनोज बाजपेई आज भी एक सादा जीवन जीते हैं इनके पिता जिनका नाम राधाकांत वाजपेई है वे एक मामूली किसान थे, हालांकि इनके पिता का देहांत हो चुका है, परिवार में मनोज बाजपेई के दो भाई और तीन बहने भी हैं। मनोज बाजपेई से जुड़े कुछ विवाद भी है जिनमे मुख्य रूप से आमिर खान का फिल्म दंगल है जिसमें भूमिका पसंद नहीं आने की वजह से मनोज बाजपेई ने कार्य करने से मना कर दिया, जूही चावला द्वारा निर्मित फिल्म चॉक एंड डस्टर से मनोज बाजपाई को निकाल दिया गया था तथा उनके जगह ऋषि कपूर को रोल दिया गया इस वक्त भी एक विवाद ने जन्म ले लिया था।

मनोज बाजपेई के सबसे पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन और नसरुद्दीन शाह रहे हैं तथा निदेशक के रूप में मनोज बाजपेई शेखर कपूर और रामगोपाल वर्मा को सबसे अधिक पसंद करते हैं। अपने करियर का बेस्ट फिल्म पूछने पर मनोज बाजपेई हमेशा गेम्स ऑफ वासेपुर का नाम लेते हैं। पसंदीदा अभिनेत्री की बात की जाए तो स्मिता पाटिल और तब्बू का नाम मनोज वाजपेई के जुबान से निकलता है।

Leave a Comment