सिर्फ 22 साल की उम्र में बनी IAS, पहले ही प्रयास में पास की UPSC की एग्जाम

यूपीएससी की परीक्षा हमारे देश में होने वाले सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है इस एग्जाम को बिना कोचिंग किए और स्व-अध्ययन और पहले ही प्रयास में सफलता प्राप्त करने वाले बहुत ही कमी देखा गया है। हालांकि आज हम एक ऐसे आईएएस के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने यह कठिन काम करके दिखाया है। जागरण मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आपको बता दे कि आईएएस चंद्र ज्योति सिंह यूपीएससी 2019 में अपने पहले ही अटेम्प्ट में पूरे देश में 28वीं रैंक पाकर सबको आश्चर्यचकित कर दिया था। सबसे आश्चर्य वाली बात यह थी कि उन्होंने यह परीक्षा महज 22 वर्ष की उम्र में पास कर लिया था।

बचपन से था देश सेवा का जुनून

रिपोर्ट्स के अनुसार चंद्र ज्योति के पिता एक रिटायर्ड आर्मी रेडियोलॉजिस्ट है और उनकी माता मीना सिंह अपनी सेवा सेना में दी है। माता-पिता के चलते उनके अंदर भी देश सेवा का जुनून बचपन से ही था तब से उन्होंने आईएएस बनने का सपना देखा।

स्वाध्ययन को बताया सबसे बेस्ट

जानकारी के अनुसार आपको बता दे की चंद्र ज्योति सिंह अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के बाद 1 साल का ब्रेक लिया और शुरू कर दिया। उन्होंने जब तैयारी शुरू किया तब किसी भी प्रकार की कोचिंग का सहारा नहीं लिया और केवल स्व अध्ययन पर भरोसा किया। चंद्र ज्योति ने हर दिन 6 से 8 घंटे पढ़ाई किया है हालांकि एग्जाम नजदीक आने पर एक दिन में 10 घंटे या उससे अधिक पढ़ाई किया। इसके अलावा उन्होंने न्यूज़ पेपर , डेली करंट अफेयर्स पढ़ती थी। जिसके चलते उन्होंने परीक्षा पास करने में मदद मिली।

रणनीति बनाना है जरुरी, तभी मिलेगी सफलता

अपने पहले प्रयास में यूपीएससी सिविल सर्विस की एग्जाम पास करने वाली चंद्र ज्योति सिंह ने तैयारी कर रहे युवाओं को सलाह देते हुए कहा कि यूपीएससी की एग्जाम की तैयारी के लिए रणनीति बनाना बहुत ही जरूरी है स्ट्रेटजी बनाएं और उसी के अनुसार तैयारी करें। तभी आपको सफलता हासिल होगी।

Leave a Comment