गोरखपुर में 11 एकड़ में बनेगा अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल, मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं, यहाँ जानिए पूरी योजना

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के लिए अच्छी खबर है। बता दें कि गोरखपुर में 11 एकड़ जमीन में अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण मास्टर प्लान बनाना शुरू कर दिया है। अब यात्रियों को बेहतर सुविधाएं मिलेगा। आइए जानते हैं पूरी योजना क्या है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आपको बता दें कि, गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) में 200 एकड़ में आवासीय और व्यवसायिक प्लाट निकाले जाएंगे, जिसमें से एक 11 एकड़ जमीन में अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए एक कंसलटेंट कंपनी को जिम्मेदारी दी गई है। गीडा प्रशासन इसके लिए कालेसर पॉइंट पर 120 एकड़ जमीन देखा है जिसे गीडा के द्वारा खरीदा जाएगा।

काल्पनिक फोटो
काल्पनिक फोटो

मिली जानकारी के अनुसार, शहर का विस्तार लगभग गीडा तक हो चुका है। जिससे शहर की एंट्री प्वाइंट माना जा रहा है। गीडा के आवासीय प्लॉट कुछ और गांव में शुरू होने जा रहा है जबकि कालेसर से आगे बढ़ने पर औद्योगिक एरिया शुरू हो जारहा है। इसे ध्यान में रखते हुए गीडा प्रशासन ने कलेशर के पास 200 एकड़ में आवासीय और व्यवसायिक प्लाट तैयार करने का फैसला किया है।इसमें से 11 एकड़ में अंतर राज्य बस बनाने का फैसला गीडा ने किया है। उनका मानना है कि टर्मिनल के बनने से शहर का विस्तार और बढ़ेगा। साथ ही औधोगिक क्षेत्र से अन्य जगहों पर जाने के लिए लोगों को शहर में आने की जरूरत नहीं होगी। यात्री कालेसर से ही लखनऊ, वाराणसी सहित अन्य जिलों की यात्रा कर सकेंगे।

नोएडा की तरफ बिकसित होगा 

अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल को बनाने के प्रस्ताव का अनुमोदन गीडा बोर्ड की बैठक में हो चुका है यह टर्मिनल पूरी तरह से आधुनिक होगा यहां हर तरह की सुविधाएं मिलेंगे। बस टर्मिनल पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप से तैयार किया जाएगा, जिसमें फूड प्लाजा, होटल, बस स्टाफ, के ठहरने के लिए कमरे भी बनाए जाएंगे। गीडा की योजना है कि यह बस टर्मिनल नोएडा की तरह विकसित किया जाए।

Leave a Comment