बिहार में शिक्षा का स्तर चाहे जो भी हो लेकिन बिहार के बाहर पढ़ रहे विद्यार्थियों की संख्या इतनी अधिक है कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। इसका जीता जागता उदाहरण आज कोटा में देखने को मिला है। जहां भारत के वित्त मंत्री NIRMALA SITARAMAN निर्मला सीतारमण एक कांफ्रेंस के दौरान कोटा में बिहार के विद्यार्थियों की संख्या जानकर हैरान रह गई।

NIRMALA SITARAMAN IN KOTA CONFERENCE

रविवार को वित्तमंत्री पहुँची थी कोटा

बीते दिन रविवार को वित्त मंत्री NIRMALA SITARAMAN निर्मला सीतारमण लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के साथ युवा संवाद शक्ति कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची थी, इस दौरान वित्त मंत्री ने इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं छात्रों से अर्थव्यवस्था और एजुकेशन से जुड़े सवाल जवाब किए।

छात्रों से बातचीत के दौरान पूछा राज्य तो चौक गयी वित्तमंत्री

इस दौरान वित्त मंत्री NIRMALA SITARAMAN ने जब छात्रों से राज्य का नाम लेकर हाथ उठाने को कहा तो महाराष्ट्र और कर्नाटक का नाम लेने पर छात्रों में कोई हलचल नहीं दिखी किसी का हाथ नहीं उठा, लेकिन जब वित्त मंत्री ने छात्रों से पूछा यहां बिहार से कितने छात्र हैं, तो वहां सैकड़ों हाथ एक साथ उड़ते हुए दिखे।

चेहरे पर हाथ ने बया किया मन का भाव

यह देख कर वित्त मंत्री NIRMALA SITARAMAN निर्मला सीतारमण पूरी तरह हैरान हो गई, उन्होंने अपने हाथों से मुंह को ढक लिया, इससे पता चलता है कि बिहार में शिक्षा को लेकर कितना क्रेज है। लेकिन बिहार की शिक्षा व्यवस्था लचर होने की वजह से एक छात्र पढ़ने के लिए राज्य से बाहर का रुख़ लेना पड़ता है।

बिहार राज्य से सबसे अधिक छात्र कोटा में कर रहे पढ़ाई

बिहार के अत्यधिक छात्र मेडिकल और इंजीनियरिंग के तैयारी के लिए सबसे अधिक कोटा जैसे जगहों को चुनते हैं। वजह है वहां का माहौल और इंस्टीट्यूट द्वारा की गई बेहतरीन व्यवस्था।

Kush Singh

I write and review news over Kanpuriya News. My focus is to bring people near positive and genuine news only.