तुर्की और सीरिया में भूकंप से अबतक 15000 से अधिक लोगों की गई जान, 20,000 से अधिक मरने की आशंका

तुर्की और सीरिया में भूकंप के चलते अब तक 15000 से अधिक लोगों ने अपनी जान गवा दिया है कई हजारों की संख्या में लोग घायल हुए हैं। राहत और बचाव का कार्य चल रहा है।

6 फरवरी को आया था 7.8 तीब्रता का भूकंप 

आपको बता दें कि टर्की और सीरिया में ने भयंकर तबाही मचाई है तबाही का मंजर देखकर पूरी दुनिया सेहमी हुई है। 6 फरवरी को भूकंप के झटके लगातार आने से हजारों इमारतें धारा सही हो गई थी। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.8 मापी गई थी। बता दे कि जिस समय भूकंप आया था उस समय लोग अपने घरों में चैन में सो रहे थे जिसके चलते बड़ी संख्या में लोग अपनी जान गवाई है।

20,000 से अधिक लोगों के मरने की आशंका

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आपको बता दे कि भूकंप के चलते हजारों इमारतें मलबे में तब्दील हो गई थी। बता दें कि भूकंप में अब तक 15,000 से अधिक लोगों ने अपनी जान गवा दिया है आशंका है हालांकि यह संख्या हर समय बढ़ते जा रहा है आशंका है कि 15000 से बढ़कर संख्या 20000 तक हो सकती है।

हजारो की संख्या में ढही इमारतें, सदी का सबसे घातक भूकंप 

भूकंप के चलते हजारों की संख्या में इमारतें रह गई हैं, भूकंप आने के 3 दिन बीत गए हैं लेकिन अभी भी बहुत से लोग फंसे हुए हैं। राहत कार्यों को कड़ाके की ठंड ने बाधित किया हुआ है। चारों तरफ वहां पर मातम छाया हुआ है लो असहाय होकर मदद मांग रहे हैं। 3 दिन बाद भी बचाव दल के द्वारा मलबे से जीवित बचे लोगों को निकालने की कोशिश करता रहा है। बताया जा रहा है कि यह सदी का सबसे घातक भूकम्पों में से एक है। एएफपी पत्रकारों और नेट ब्लॉक्स वेब मीटिंग ग्रुप के अनुसार, तुर्की मोबाइल नेटवर्क प्रिंटर काम नहीं कर रहा था उनको कौन से बच्चे लोगों को भोजन और आश्रय पाने के लिए तुर्की में संघर्ष करना पढ़ना है।

भूकंप के 72 घंटे बाद भी जीवी लोग निकाले जा रहे

भूकंप को आए 72 घंटे का समय बीत चुका है जीवित बचे लोगों को खोजने के लिए बचाव करता हूं के पास बहुत ही कम समय बचा हुआ है। आपदा विशेषज्ञों की माने तो, इतने समय के बाद जान बचाना बेहद ही मुश्किल होता है। लेकिन फिर भी बुधवार को बचाव दल तुर्की के हटे प्रांत में एक नई इमारत के नीचे से बच्चों को निकाला।

मलवे में दबी छोटी बच्ची
मलवे में दबी छोटी बच्ची

तुर्की में 12,391 और सीरिया में 2992 लोग मरे 

अधिकारियों और चिकित्सकों के अनुसार तुर्की में 12,391 और सीरिया में 2992 लोग 7.8 तीव्रता के भूकंप के झटके में मारे गए। मरने वालों की संख्या 15,000 से अधिक हो गई है। विशेषज्ञों को डर है कि यह संख्या तेजी से बढ़ती रहेगी।

मलवे में दबी छोटी बच्ची

हर ईमारत के निचे 400 से 500 लोग फंसे हुए हैं

बताया जा रहा है कि सभी इमारतों के नीचे लगभग 400 से 500 लोग फंसे हुए हैं, केवल 10 लोग उन्हें बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हैं और कोई मशीनरी नहीं है।

Leave a Comment