बिहार के रेलयात्रियो को सौग़ात 

भारत में रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय ढांचा देने हैं एवं रेल यात्रियों के सुविधाओं में लगातार बढ़ोतरी के लिए भारतीय रेलवे लगातार प्रयासरत है, इसी क्रम में बिहार के एक रेलवे स्टेशन का चयन विश्वस्तरीय रूप से डिजाइन करना एवं यात्रियों के लिए बेहतर सुविधा मुहैया कराने लिए रेलवे ने बड़ा फ़ैसला लिया है। बिहार का भागलपुर रेलवे स्टेशन अपने मंडल के सबसे अधिक फायदा पहुंचाने वाले रेलवे स्टेशन में गिना जाता है।

8 मंज़िल का होगा नया भवन 

ऐसे में रेलवे भी भागलपुर रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय स्टेशन के रूप में विकसित करने की पूरी योजना बना चुका है इस योजना में सर्वप्रथम रेलवे स्टेशन का डिजाइन शामिल है जिसे बदलकर 8 मंजिला स्टेशन भवन का निर्माण किया जाना है इस 8 मंजिले स्टेशन भवन के निर्माण के लिए स्टेशन अधीक्षक कार्यालय सहित कई विभागों के कार्यालयों को तोड़कर नया रूप दिया जाएगा।हमसे जुड़े WHATSAPP से, अभी JOIN करें हमारा ग्रूप

 

एक छत के नीचे मिलेगी सभी सुविधाए 

रेल यात्रियों को एक ही छत के नीचे हर प्रकार की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी तथा रेलवे स्टेशन से खुलने वाली गाड़ियों की संख्या बढ़ाने की योजना शामिल है यात्रियों की भीड़ एवं संख्या को देखते हुए प्लेटफ़ोर्म संख्या को भी बढाने का फ़ैसला किया गया है। जानकारी के अनुसार नए प्लेटफार्म के निर्माण के लिए पहले से मौजूद स्टेशन अधीक्षक उप स्टेशन अधीक्षक आरक्षण टिकट केंद्र साधारण टिकट बुकिंग केंद्र एवं प्लेटफार्म संख्या एक के पास कोचिंग परिषद चीन निर्मित कार्यालय भावनाओं को तोड़कर नया रूप देने की योजना बनाई गई है।

 

नए भवन में इस प्रकार होगा विभागों का बँटवारा 

प्लेटफार्म संख्या एक को और भी वितरित करने के लिए दोपहर को को हटाने की योजना बनाई जा रही है रेलवे के अधिकारियों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार नवनिर्मित भवन में ग्राउंड फ्लोर पर टिकट बुकिंग कार्यालय पहले फ्लोर पर स्टेशन अधीक्षक स्टेशन प्रबंधक का कार्यालय एवं अन्य विभिन्न कार्यालयों को फर्स्ट फ्लोर पर शिफ्ट किया जाएगा। इस योजना की सबसे मुख्य बात यह है कि,

 

अब सुविधाओं में होगी बढ़ोतरी 

इस नवनिर्मित डिजाइन में एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर जाने के लिए अंडरपास का निर्माण किया जाएगा तथा स्टेशन परिसर के अंदर ही सुपर मार्केट कॉन्प्लेक्स का भी निर्माण कराया जा रहा है यह पूरी व्यवस्था गति शक्ति प्रोजेक्ट के तहत की जा रही है जिसमें लगभग विकास कार्यों पर 200 करोड़ खर्च होने का अनुमान है। इसके अलावा यात्रियों की सुविधा के लिए स्टेशन पर एक्सेस कंट्रोल गेट और प्रत्येक प्लेटफार्म पर स्वचालित सीढ़ियाँ एवं लिफ़्ट की व्यवस्था की जा रही है।

Saurav Jha

I write and review new articles, I love to cover news over stock market and important business updates.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *