भारत ने बांग्लादेश को दिए 20 नए लोकोमोटिव, रेलमंत्री हुए वर्चुअली शामिल

यात्रियों की बढ़ती संख्या और माल ढुलाई की जरूरतों को पूरा करने की पहल के तहत भारत ने मंगलवार को बांग्लादेश को 20 ब्रॉड गेज ट्रेनें सौंपी। भारतीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव रेल भवन नई दिल्ली लोगों से वर्चुअली जुड़े। उनके साथ बांग्लादेश के रेल मंत्री नुरुल इस्लाम सुजान भी वर्चुअली शामिल हुए। बांग्लादेश के रेल मंत्री नुरुल इस्लाम सुजान ने कहा। जून 2022 में बैठक भी की गई थी जिसके दौरान, दोनों पक्षों ने दोनों देशों के बीच रेलवे संचालन के कई पहलुओं पर चर्चा की।

इस कदम का उद्देश्य दोनों देशों के बीच व्यापार और यात्रा को बढ़ावा देना था। उम्मीद है कि नए लोकोमोटिव दोनों तरफ यात्री और माल ढुलाई की बढ़ती मांग को पूरा करेंगे। वही वर्चुअली जुड़े रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रधानमंत्री मोदी के कार्य की सराहना करते हुए कहा कि भारत द्वारा इन ट्रेनों को बांग्लादेश को सौंपकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने किए गए वादे को पूरा किया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि द्विपक्षीय सहयोग तेज गति से बढ़ रहा है।

आपको बता दें भारत और बांग्लादेश के बीच नौ इंटरचेंज हैं जिनमें से पांच चालू हैं। और दो निर्माणाधीन हैं। भारत और बांग्लादेश के बीच चल रही तीन ट्रेनों को जनता से अच्छी प्रक्रिया मिली है।

कोलकाता ढाका मैत्री एक्सप्रेस
कोलकाता खुलना वंदन एक्सप्रेस
न्यू जलपाईगुड़ी ढाका मिताली एक्सप्रेस

अश्वनी वैष्णव ने कहा कि भारत और बांग्लादेश के बीच 1.7 अरब डॉलर की परियोजनाएं चल रही हैं। वहीं अश्वनी वैष्णव ने बांग्लादेश के लिए पटरियों को ब्रॉड गेज में बदलने की भी पेशकश की। 2022 के जुलाई महीने में, भारत द्वारा बांग्लादेश को 10 ब्रॉड गेज लोकोमोटिव सौंपे गए थे। यह ट्रेनें डीजल से चलने वाली हैं जो की 3,300 हॉर्सपावर में 120 किमी प्रति घंटे तक की गति देने में सक्षम हैं। इन ट्रेनों को बांग्लादेश की अधिकतम ऊंचाई आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कॉन्फ़िगर किया गया था।

 

Leave a Comment