गोरखपुर के 196 गावों के विकास कार्य योजना तैयार, मिली 6.33 करोड़ रूपये, देखें गावों की लिस्ट

गोरखपुर गांव क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर आ रही है बता दे कि गोरखपुर के 196 गांव का कायाकल्प करने की तैयारी शुरू हो चुकी है। इसके पहले चरण में 17 गांव के विकास के लिए 6.33 करोड़ खर्च करने के लिए शासन ने अनुमति दे दिया है और बहुत ही जल्द अन्य गांव के लिए भी धन अवमुक्त किया जाएगा।

दरअसल आपको बता दें कि जिले के 13 ग्राम पंचायतों के 17 गांव में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन पर काम शुरू किया जाएगा। खबर के अनुसार डीएम ने इन गांवो में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन के लिए 6 करोड़ 33 लाख रुपए खर्च करने के लिए स्वीकृति दे दिया है। यही नहीं इसके साथ ही 76 ग्राम पंचायतों के 98 गांव के लिए ग्राम स्वच्छता कार्ययोजना भी तैयार कर लिया गया है इन गांव की आबादी 5000 से ज्यादा है। बता दें कि 81  गांव के लिए भी जल्द ही बजट मिलने की संभावना है वहीं जिले के 196 गांव का जल्द ही कायाकल्प किया क्या जाएगा।

गांव और जारी हुई धनराशि

पिपराइच के ग्राम पंचायत रुद्रापुर में – 43.06 लाख, भैंसहा में- 56.96 लाख

सरदार नगर की ग्राम पंचायत शत्रुघ्नपुर में – 35.33 लाख , भटहट की ग्राम पंचायत जौनपुर में 74.21 लाख, जंगल कौड़िया में- 59.27, भरोहिया ग्राम पंचायत कल्याणपुर में- 33 लाख, कैंपियरगंज की ग्राम पंचायत इंदरपुर में 40.76 छह लाख, सहजनवा की ग्राम पंचायत भीटी रावत में 52.47 लाख रुपए जारी किए गए हैं।

बरहमपुर की ग्राम पंचायत जंगल रसूलपुर नंबर 2 में- 82.21 लाख, कैंपियरगंज की ग्राम पंचायत राजपुर में 34.45 लाख व मोहम्मद पुर उर्फ जंगल बब्बन में- 38.02 लाक रुपए स्वीकृत हुए हैं बड़हलगंज की ग्राम पंचायत मुहालजलकर में-33.30 लाख, उरुवा ब्लाक के ग्राम पंचायत भदार खास के लिए 47.95 लाख की धनराशि स्वीकृत हुई है।

यह काम किए जाएंगे

आपको बता दें कि घर से निकलने वाले पानी का प्रबंधन, कंपोस्ट पीट बना कर गोबर व कूड़ा प्रबंधन किया जाएगा वही घर घर से ई-रिक्शा के माध्यम से कूड़ा इकट्ठा किया जाएगा। बता दें कि गांव में कूड़ा घर बनाकर सूखा और गीला कूड़ा अलग-अलग रखा जाएगा। इसके लिए अलग-अलग जगह पर कूड़ा इकट्ठा करने के लिए जगह बनाई जाएगी। अत्याधुनिक विधि के द्वारा नाली का निर्माण किया जाएगा और लोगों को जागरूक जागरूक करने का अभियान भी चलाया जाएगा इसमें महिलाओं की भागीदारी रहेगी। हर काम की निगरानी किया जाएगा।

Leave a Comment