कानपुर वासियों को एक लंबे समय का इंतजार मेट्रो के लिए करना पड़ा लेकिन मेट्रो में सफर करने का वो दिन आ ही गया । बीते दिन मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मेट्रो में सफर किया। जिसके बाद कानपुर मेट्रो आम लोगों के लिए खोल दिया गया है। बुधवार सुबह 6:00 बजते ही कानपुर मेट्रो का गेट जनता के लिए खोल दिया गया जिसके बाद मेट्रो में यात्रा करने वाले यात्रियों का पहुंचना शुरू कर हो गया । मेट्रो के सबसे पहले ट्रेन में सफर करने के लिए यात्री बेचैन थे। काफी सारे लोगों ने पहले ट्रेन में सफर करके अपने कैमरे में कैद कर लिया और एक यादगार पल बना लिया।

आपको बता देंगे कानपुर मेट्रो का प्राथमिक कॉरिडोर आईआईटी से मोतीझील को रखा गया है जिसमें इन दोनों स्टेशनों के बीच 9 स्टेशन है। यह नौ स्टेशन इस प्रकार है आईआईटी कानपुर, कल्याणपुर, एसपीएम, विश्व विद्यालय, गुरुदेव , गीता नगर , रावत पुर, एलएलआर और मोती झील मेट्रो स्टेशन है। बीच की दूरी 9 किलोमीटर है सबसे अच्छी बात यह है कि यात्रियों को हर 5 मिनट पर मेट्रो ट्रेन मिल जाएगी। लेकिन अभी आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी चार मेट्रो ट्रेनों का संचालन किया जाएगा जबकि दो ट्रेनों को रिजर्व डिपो में रखा जाएगा।

 कानपुर मेट्रो की कुछ खास सुविधा-

मेट्रो ट्रेन में सफर करने से पहले यात्रियों की तलाशी ली जाएगी। यात्री टिकट लेने के बाद ही है प्लेटफार्म तक यात्री जा पाएंगे। कानपुर वासियों के गुटखा और पान खाने की आदत है जिसे छुड़ाने पर भी कभी ध्यान दिया गया है। कानपुर मेट्रो का मिनिमम किराया ₹10 जबकि अधिकतम किराया ₹30 रखा गया है। हर स्टेशन पर सुरक्षा गार्ड को तैनात किया गया है जो यात्रियों की असुविधा में मदद करेंगे। हर स्टेशन पर मेन स्केनर के साथ साथ यात्रीयो के लगेज और बैग को भी स्कैन किया जाएगा। मेट्रो ट्रेन के अंदर ऑटोमेटिक वायस एड्रेसिंग सिस्टम होगा जो अगला स्टेशन आने से पहले ही सूचना देखा। ट्रेन के कोच में पैनिक बटन भी दिया जाएगा जो खासकर महिलाओं की मदद के लिए रहेगा,किसी भी अप्रिय स्थिति में इसे प्रयोग कर सकेंगी। पैनिक बटन की सूचना सीधा ट्रेन के चालक को मिलेगा।

Rajan Sharma

Our motive to spread genuine and verified news of all over India.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *